भारत को गोल्ड दिलाने वाले नीरज चोपड़ा की संघर्ष भरी कहानी..

410

Sports – नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी हैं नीरज 87.5 8 भाला फेंक कर भारत को गोल्ड दिलाने में सफल रहे आज पूरा देश नीरज पर गर्व कर रहा है। नीरज के कुछ संघर्ष भरी कहानियां..

Niraj chopra file photo

आपको बता दें पहले प्रयास में नीरज के द्वारा 87.03 मीटर दूसरे में 87.58 और अंतिम प्रयास में 76.79 मीटर भाला फेका गया। उन्होंने जैसे ही 87.58 मीटर भाला फेका भारत की झोली में गोल्ड आकर गिरा । इसी के साथ ही भारत को पहला गोल्ड दिलाने में सफल हुए।

नीरज के इस गोल्ड के साथ ही भारत के टोक्यो ओलंपिक में कुल अब तक 7 पदक हो गए इसी साथ भारत ने किसी एक ओलंपिक में सबसे ज्यादा पदक लाने का एक नया रिकॉर्ड बनाया। साल 2012 में लंदन में हुए ओलंपिक में भारत के झोली में 6 पदक आए थे।

अब चलिए आपको बताते हैं नीरज के बारे में कुछ कहानियां

सबसे पहले आपको बता दें नीरज दूसरे ऐसे एथलीट खिलाड़ी हैं जिन्होंने भारत को स्वर्ण पदक दिलाया है।

नीरज का गांव पानीपत में है यह एक छोटे से गांव से हैं। नीरज का सफर पानीपत से शुरू हुआ जहां नीरज पानीपत के स्टेडियम में अपनी फिटनेस को लेकर जाया करते थे यहीं से जैवलिन में उन्होंने हाथ आजमाया,

अपने गांव में सरपंच के नाम से जाने जाते हैं इसके पीछे की कहानी यह है कि वह भारी-भरकम कपड़ा पहने कर चलते थे कपड़े का वजन करीब 80 किलो हुआ करता था।

2016 में नीरज ने पोलार्ड में यू ट्वेंटी-20 चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था यहीं से या खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छाने लगा था।। सभी खिलाड़ी की तरह नीरज को भी चोट ने पीछा नहीं छोड़ा नीरज अपने चोट के कारण भी कई बार परेशान हुए हैं उन्हें कई बार चोटें आई हैं।

लेकिन नीरज की मेहनत और उनकी टीम की कोशिश से वह सभी तरह के मुश्किलों को पार कर गए। और आज टोक्यो ओलंपिक में भारत को पहला गोल्ड दिलाने में सफल हुए।

नीरज नॉन वेज खाना पसंद करते हैं

आपको बता दें नीरज को नॉनवेज खाना के साथ नीरज पानी पूरी खाना और नीरज को बाइक चलाना भी पसंद है, सभी खिलाड़ी की तरह नीरज के बारे में बात करें तो म्यूजिक सुनने में नीरज हरियाणवी और पंजाबी गाने सुनने का खूब शौक रखते हैं।